संतोषजनक और सुखी जीवन जीने का रहस्य। 

संतोषजनक और सुखी जीवन जीने का रहस्य। बहुत समय पहले भारतवर्ष के बड़े राज्य में एक शूर वीर राजा राज्य करता  था। कुछ समय बाद  किसी कारणवश अपने शत्रु से युद्ध होने के बाद वह अपना सिंहासन,  अपनी सेना, अपना राज्य सब कुछ खो चुका था। और अपनी शत्रु से बचने के लिए वह भागकर […]

Ajita chapter 16 – बिन बुलाये मेहमान / unwelcome guests

Ajita Chapter-16 बिन बुलाये मेहमान / unwelcome guests होली खत्म हो गई थी और परीक्षा शुरू होने को सिर्फ कुछ ही दिन बाकी थे। दुर्भाग्यवश अजिता की सास और विजय दोनों बीमार पड़ गए। विजय को मलेरिया और जया को हैजा हो गया। दोनों काफी कमज़ोर हो गए थे इसलिए डॉक्टर ने विजय और जया […]

Ajita Chapter 15: सकारात्मक दृष्टिकोण / positive outlook

Ajita Chapter 15: सकारात्मक दृष्टिकोण / positive outlook “तो इसका मतलब आप इसलिए शादी के लिए तैयार हुई क्योंकि आपको आगे पढ़ाई करने का आश्वासन मिला था? फिर क्या सच में ऐसा हुआ? आपको तो पढ़ाई की इजाज़त मिली नहीं थी”। “अपने परिवार के लोगों की खुशी की कीमत पर कुछ हासिल करने का कोई […]

Ajita Chapter 14: अभिनव का पालन पोषण

Ajita Chapter 14: अभिनव का पालन पोषण उसके आने के बाद अजिता का पूरा ध्यान अभिनव में लग गया क्योंकि जब अभिनव का जन्म हुआ था तब डॉक्टर ने, उसका वजन कम होने के कारण, उसका विशेष ध्यान रखने को कहा था, इसलिए सभी अभिनव के लिए काफी चिंतित रहते थे। अजिता ने डॉक्टर की […]

Ajita Chapter 13: अभिनव के ‘मेरे चाचा’

Ajita Chapter 13: अभिनव के ‘मेरे चाचा’ “नहीं नहीं, उसे सो लेने दीजिए, अब तो मैं रहूँगा ही तीन दिन उसके साथ,” अजय ने दूसरा लड्डू उठाते हुए कहा। “तीन दिन? बस तीन दिन। इतनी कम छुट्टियाँ?” अजिता अजय को कम दिन आने पर हर बार ऐसे ही कहती थी। उसे मालूम था कि प्राइवेट […]

Ajita Chapter 12: होली की तैयारी

Ajita Chapter 12: होली की तैयारी कुछ दिनों में होली आने वाली थी। होली की तैयारी हो रही थी। अजिता काफी दिन पहले से उसकी तैयारी में लग जाती और अभिनव को भी होली में बहुत मज़ा आता था इसलिए अजिता अब पहले से ज्यादा तैयारी करने लगी थी। होली की छुट्टियों में अजय घर […]

Ajita Chapter 11: अपना प्यारा घर

Ajita Chapter 11: अपना प्यारा घर अभिनव के सोने के बाद अजिता उठी और सारे कपड़े अलमारी में सेट किये फिर शाम की पार्टी में जाने के लिए अपनी साड़ी देखने चली गई। सुनन्दा के घर जाने के लिए अजिता ने अपनी सबसे पसंदीदा पिंक कलर की साड़ी निकाली। वैसे तो अजिता हमेशा ही सुंदर […]

Ajita Chapter 10: बर्थडे पार्टी

Ajita Chapter 10 : बर्थडे पार्टी अगले दिन अजिता जब सोकर सुबह उठी तो उसे तेज़ सर दर्द हो रहा था। उसे फिर से वही सपना दिखाई पड़ा जो उसे अभिनव के जन्म के बाद से दिखता आ रहा था। सपने में उसे एक बड़ा सा हॉस्पिटल और कुछ अंक दिखाई देते थे। वैसा हॉस्पिटल […]

Ajita Chapter 9: ज्योति की सूझबूझ

Ajita Chapter 9: ज्योति की सूझबूझ “कोई उठाकर तो नहीं ले गया।” अजिता का दिल ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा। वह न्यूज़ पेपर में अक्सर पढ़ती है कि कभी-कभी कुछ लोग बच्चों को अगवा कर लेते हैं। अजिता ने कभी किसी के साथ कुछ बुरा नहीं किया और न विजय ने,  ऐसे में फिर कोई […]

Ajita Chapter 8: अजिता की उलझन

chapter 8 अजिता की उलझन दोपहर के खाने में वह अभिनव की मनपसंद मटर पनीर की सब्जी और हलवा बनाने किचन में चली गई। एक बजे बस की आवाज़ सुनाई पड़ी तो अजिता ने खाना टेबल पर लगा दिया और हलवा गरम करने के लिए चढ़ा दिया। दस मिनट हो गए, अभिनव ऊपर नहीं आया […]